श्री तत्त्वार्थ सूत्र जी

Classes

-मुनि श्री 108 प्रणम्य सागर जी महाराज

उमा स्वामी विरचित महान ग्रंथराज मोक्ष शास्त्र

"श्री तत्त्वार्थ सूत्र जी"

(With Animations and Visualizations)

टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ें

Whatsapp ग्रुप से जुड़ें

अपनी शंका भेजें

मुनि श्री 108 प्रणम्य सागर जी महाराज

वर्तमान में अहं से अर्हं के पथ पर चलने वाले अग्रणी संत हैं आचार्य श्री 108 विद्यासागर जी। आचार्य श्री के खजाने का एक नायव हीरा जिन्हें अगर सरस्वती पुत्र कहें तो अतिश्योक्ति नहीं होगी ऐसे बालयोगी मुनि श्री 108 प्रणम्य सागर जी महाराज संस्कृत, प्राकृत, अपभ्रंश आदि प्राचीन भाषायों में निपुण हैं। अपने 24 साल के साधना के अनुभव और प्राचीन ग्रंथों के मर्म को समझकर मानवमात्र के लिए बड़ी ही सरल भाषा में प्रस्तुत किया है।